Google+ Followers

Tuesday, 27 January 2015

तस्सवुर तेरा....


तस्सवुर तेरा, जुस्तजू तेरी,


तेरा ही ख्वाबो-ख्याल है... 



चैन भी, नींदें भी रुखसत,


रात के वक्त ये आशिकी कमाल है ..

http://hottystan.mywapblog.com/